Home कला संस्कृति

कला संस्कृति

हाशिए पर धूप की सुखद तपन….. पुस्तक समीक्षा

अनिल अनूप आज डाक से एक किताब मिली, "हाशिए पर धूप", किताब का पैकेट खोलते ही नजर गई अपने अज़ीज़ ओ खास प्रमोद दीक्षित मलय...

छत्तीसगढ़ लोक कला संस्कृति

सन्नी यादव छत्तीसगढ़ में लोक जीवन कला जो की समाज द्वारा मान्य है लोक संस्कृति कहलाती है इसके अंतर्गत लोकगीत ,लोकनृत्य नाटक ,छत्तीसगढ़ी त्योहार और...

एक ऐसा इलाका है जहाँ कला की अद्भुतता देखी जा सकती है

अनन्या  कठपुतली के तमाशे और जादू के खेल को भारत में पारंपरिक मनोरंजन की मशहूर विधाओं में गिना जाता है. दिल्ली में ही कठपुतली कलाकारों...

ये शर्त तुम को पसंद आये तो चले जाओ….

गॉधी जयंती के मौके पर बज्म ए जिगर की जानिब से तरही शेरी नशिस्त का आयोजन मशहूर शायर महेंद्र अश्क की दी गई रदीफ.. तो चले...

अखिल भारतीय कवि सम्मेलन के भाग २ का मर्मस्पर्शी आयोजन 2 अक्टूबर को

सुरजीत दुग्गल की रिपोर्ट रोटरी क्लब बोरीवली ईस्ट, दिल्ली शाहदरा, कॉटन सिटी रायचूर एवं नेशनल बर्न्स सेंटर , इंदौर की आनंद गोष्ठी एवम देश की...

तीन दिवसीय आईसीटी की ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन

कार्यालय संवाददाता की रिपोर्ट लखनऊ। बेसिक शिक्षा को समर्पित प्रदेश स्तर पर संचालित समूह नवाचार एक पहल के द्वारा तीन दिवसीय आईसीटी की ऑनलाइन कार्यशाला...

“नवाचार एक पहल” की ऑनलाइन कार्यशाला का द्वितीय दिवस प्रायोजित

संगीता चौरसिया की रिपोर्ट लखनऊ। बेसिक शिक्षा में नित्य प्रति होने वाले नवाचारों की श्रृंखला में नवाचार एक पहल की ऑनलाइन कार्यशाला के द्वितीय दिवस...

सांस्कृतिक मित्रता का पैरोकार है “भोजली पर्व”

सन्नी यादव की रिपोर्ट बिलासपुर।छत्तीसगढ़ प्रदेशवासियों को छत्तीसगढ़ के लोक संस्कृति पारंपरिक भोजली महापर्व त्यौहार की बहुत बहुत बधाई एवं हार्दिक, शुभकामनाएं देते हुए  भोजली...